सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड जस्टिस इंदु मल्होत्रा की अगुवाई में होगी पीएम सुरक्षा चूक की जांच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर में सुरक्षा चूक पर सुप्रीम कोर्ट ने जांच कमेटी बना दी है। यह जांच सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड जस्टिस इंदु मल्होत्रा की अगुवाई में होगी। उनके साथ NIA के DG के प्रतिनिधि के तौर पर IG, चंडीगढ़ के DGP, पंजाब के ADGP सिक्योरिटी और पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को रखा गया है।
 सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार को पीएम की विजिट से जुड़ा सारा रिकॉर्ड जांच कमेटी की चेयरपर्सन जस्टिस इंदु मल्होत्रा को देने के लिए कहा है।

केंद्र और राज्य की जांच बंद
पीएम की सुरक्षा में चूक के बाद केंद्र और राज्य सरकार ने जांच शुरू कर दी थी। राज्य ने हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस मेहताब सिंह गिल की अगुवाई में गृह सचिव अनुराग वर्मा के साथ जांच कमेटी बना दी। वहीं केंद्र ने भी इंटेलिजेंस ब्यूरो और SPG अफसरों के साथ सुरक्षा सचिव की अगुवाई वाली जांच कमेटी बना दी। सुप्रीम कोर्ट में मामला पहुंचा तो यह दोनों जांच अब बंद कर दी गईं। पीएम की सुरक्षा चूक के मामले में केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां और पंजाब पुलिस सवालों के घेरे में है।
15-20 मिनट फ्लाई ओवर पर रहे पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 जनवरी को पंजाब आए थे। उन्हें फिरोजपुर में 42 हजार के प्रोजेक्टों के नींव पत्थर रखने के साथ चुनावी रैली को संबोधित करना था। मौसम खराब होने की वजह से पीएम सड़क मार्ग से रवाना हुए थे। हालांकि प्यारेआणा गांव पहुंचने पर उन्हें फ्लाई ओवर पर रुकना पड़ा। आगे कुछ लोगों ने हाईवे ब्लॉक कर रखा था। प्यारेआणा फ्लाई ओवर पर पीएम करीब 15 से 20 मिनट खड़े रहे। इसके बाद पीएम का काफिला वापस लौट आया। बठिंडा लौटकर पीएम ने पंजाब के अफसरों को कहा कि अपने सीएम को धन्यवाद कहना कि मैं जिंदा लौटकर जा रहा हूं, जिसके बाद पीएम की सुरक्षा चूक का मामला उजागर हुआ।



Top