नवादा में 12 नवम्बर को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में सभी प्रकार के सुलहनीय वादों के निष्पादन के संबंध में आवश्यक विचार किए
बंटी पाण्डेय की रिपोर्ट 
नवादा, 22 सितम्बर। गुरुवार को  जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, नवादा राजेश नारायण सेवक पाण्डेय के प्रकोष्ठ में एक बैठक हुई ।जिसमें दिनांक 12.11.2022 को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत में सभी प्रकार के सुलहनीय वादों के निष्पादन के संबंध में आवश्यक विचार किए। इसके लिए नवादा न्यायमंडल के न्यायिक पदाधिकारियों एक बैठक की गयी।  न्यायविद् जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, नवादा राजेश नारायण सेवक पाण्डेय के अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
      इस बैठक में प्रधान न्यायाधीश, परिवार न्यायालय, राधेश्याम शुक्ला, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, नवादा प्रवीण कुमार सिंह, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम, तृतीय, चतुर्थ, पंचम, षष्टम््, सप्तम, नवम, बारह, कुमार अविनाश, प्र0 मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नवादा अपर मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, चतुर्थ, षष्टम्, एस0डी0जे0एम0, प्रधान दण्डाधिकारी, किशोर न्याय परिषद, नवादा, मुंसिफ  दिवाकर कुमार, अनुभव रंजन, हिमांशु भार्गव, रत्नेश कुमार द्विवेदी, रोहित अमृतांशु, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नवादा तथा श्रीमति खुशबू आनन्द, न्यायिक दण्डाधिकारी द्वितीय श्रेणी तथा राकेश कुमार सहायक जिला विधिक सेवा प्राधिकार, नवादा उपस्थित हुए। बैठक में उपस्थित न्यायिक पदाधिकारियों को अधिक से अधिक सुलहनीय वादों के निष्पादन हेतु दिशा निर्देश दिया गया।
*बैठक में सभी प्रकार के सुलहनीय अपराधिक वादों का न्यायालयवार समीक्षा की गयी।  जिसमें सभी न्यायिक पदाधिकारियों द्वारा अपने अपने न्यायालयों के वादों के बारे में बताया गया। इसके साथ ही निष्पादन के लिए चिन्हित वादों की चर्चा की गयी उक्त बैठक में मापतौल, श्रम एवं वन वादों का न्यायालयवार चिन्हित सूची से सुलहनामा हेतु तैयार वादों में निर्गत नोटिसों का तामिला का समीक्षा किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश के द्वारा यह भी बताया गया कि पूर्व बैठक प्री सीटिंग के माध्यम से अपराधिक सुलहनीय वादों को काॅउन्सीलिंग कर सुलह के आधार पर वाद का निष्पादन किया जायेगा।

Top