बिहार में भीषण लू और गर्मी के चलते स्कूलोंकोचिंग में शैक्षणिक कार्य 8 जून तक स्थगित
बिहार में भीषण लू और गर्मी के चलते स्कूलों,कोचिंग में शैक्षणिक कार्य 8 जून तक स्थगित
मुख्य सचिव ने सभी डीएम को दियया निर्देश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भीषण गर्मी के कारण कई जिलों में स्कूली छात्रों के बेहोश होने के मामले सामने आने के बाद मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा को सभी स्कूलों को बंद करने को निर्देश दिया। 
उसके पहले शिक्षा विभाग ने भीषण गर्मी के कारण स्कूलों में 6 से 10 बजे तक शैक्षणिक कार्य का आदेश जारी किया था. सीएम नीतीश के निर्देश आते ही मुख्य सचिव ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक बुलाई, जिसके बाद सरकारी व निजी स्कूल, कोचिंग व आंगनबाडी केन्द में शैक्षणिक कार्य 30 मई से 8 जून तक बंद करने का आदेश दिया है
 जिलाधिकारियों को भेजे पत्र में मुख्य सचिव ने कहा है कि भीषण गर्मी एवं लू से बचने के उपाय से संबंधित कार्रवाई सुनिश्चत करें. सरकार ने कहा है कि कुछ दिनों से अप्रत्याशित भीषण गर्मी के साथ लू (Heat wave) के प्रकोप में अधिकांश जिले हैं। कई जिलों में जैसे गया, औरंगाबाद,कैमूर में तापमान 46°C से भी ज्यादा दर्ज किया जा रहा है। यही स्थिति अन्य जिलों की भी है। आज आपदा प्रबंधन समूह (CMG) की बैठक हुई. जिसमें IMD (भारतीय मौसम विज्ञान विभाग) के प्रतिनिधि ने अपने अनुमान में बताया है कि ऐसी स्थिति 8 जून तक बने रहने की संभावना है। ऐसे में यह निर्णय लिया गया है कि सभी सरकारी एवं निजी विद्यालय (कोचिंग संस्थान सहित) एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में 30 मई, 2024 से ৪ जून, 2024 तक शिक्षण कार्य बन्द रखा जाए ताकि भीषण गर्मी के प्रकोप से बच्चों को बचाया जा सके।
 मुख्य सचिव ने कहा है कि भीषण गर्मी एवं लू से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग, द्वारा निर्गत गाईडलाईन तथा इस संबंध में विभिन्न विभागों के द्वारा निर्गत मानक संचालन प्रक्रिया (SOP)/मार्गदर्शिकाके अनुरूप कार्रवाई करना सुनिश्चित किया जाए।जमुई , आज , निरंजन।
---------------------------------------
ब्रेकिंग न्यूज।
•••••••••••••••••
जिला डेस्क।
**************
 नीतीश कुमार ने पलटा शिक्षा विभाग का फैसला , जमुई समेत बिहार के सभी स्कूलों में 08 जून तक शैक्षणिक कार्य बंद।
•••••••••••••••••••••••••••••••••
शिक्षक-शिक्षिका पूर्वाह्न 09:00 बजे आएंगे और दोपहर 12:00 बजे तक गैर शैक्षणिक कार्य करेंगे।
**************************
प्रधानाध्यापक अपराह्न 12:30 बजे से विडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ेंगे।
•••••••••••••••••••••••••••••••••
सरकार के फैसले से अभिभावकों में हर्ष।
**************************
बिहार के बेगुसराय और शेखपुरा में बुधवार को स्कूली बच्चों की तबियत खराब होने की तस्वीर सामने आने के बाद मुख्य सचिव ने  विद्यालय के समय में बदलाव करने का आदेश जारी किया था। लेकिन सीएम नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव के फैसले को भी बदल दिया। उन्होंने सभी स्कूलों को 30 मई से 08 जून तक बंद रखने का आदेश दिया है। पूरा उत्तर भारत इन दिनों भीषण गर्मी की मार झेल रहा है। मैदानी इलाकों में गर्म हवाओं से आम जन जीवन अस्त-व्यस्त है। पारा 45 डिग्री के करीब जा पहुंचा है। भीषण तापमान ने लोगों को घरों के अंदर ही रहने को मजबूर कर दिया है। इस गर्मी का सबसे ज्यादा सितम स्कूली बच्चों पर देखने को मिला है। बुधवार को बिहार के दो जिलों से हैरान कर देने वाली तस्वीरें सामने आई। शेखपुरा और बेगूसराय में स्कूल के अंदर बच्चों की तबियत खराब हुई। यहां की तस्वीर ने लोगों को विचलित कर दिया और सरकार पर यह सवाल खड़े किए कि इतनी गर्मी में स्कूलों को बंद क्यों नहीं किया जा रहा है।
    मीडिया में खबर आने के बाद सरकार और प्रशासन की नींद टूटी और पहले स्कूलों की टाइमिंग बदलने का आदेश आया। लेकिन बाद में सीएम कार्यालय ने स्कूलों को बंद करने का ही आदेश जारी कर दिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्र जारी कर बिहार के मुख्य सचिव ब्रजेश महरोत्रा को आदेश दिया है कि 30 मई से 08 जून तक स्कूलों को बंद कराया जाए। 
   
     लेकिन शिक्षक-शिक्षिका संशोधित समय अर्थात पूर्वाह्न 09:00 बजे विद्यालय आएंगे और दोपहर 12:00 बजे तक गैर शैक्षणिक कार्य करेंगे। इस दरम्यान परीक्षा से संबंधित कॉपी जांच , मिशन दक्ष से जुड़े काम , आधारभूत संरचना आदि का दायित्व निभाएंगे।  अपराह्न 12:30 बजे प्रघानाध्यापक विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीआरसी से जुड़ेंगे और अद्यतन प्रतिवेदन समर्पित करेंगे। 

Top