बिहार की राज्यसभा की 5 सीटों के लिए   10 जून को होंगे चुनाव
चुनाव आयोग ने आज राज्यसभा की 57 सीटों पर चुनाव का एलान कर दिया है।15 राज्यों की कुल 57 राज्यसभा सीट पर 10 जून को चुनाव होंगे. इस चुनाव में बिहार की 5 सीटें खाली हो रही हैं। केंद्रीय मंत्री व जेडीयू के वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह का भी कार्यकाल खत्म हो रहा।
 इस सीट पर भी चुनाव होने हैं। सीएम नीतीश के खास आरसीपी सिंह का फिर से राज्यसभा जाना तय है। हालांकि जेडीयू की नैया तभी पार होगी जब मांझी खेवनहार बनेंगे।

5 सीटों पर चुनाव
राज्यसभा में जेडीयू कोटे से आरसीपी सिंह के अलावे बीजेपी कोटे से गोपाल नारायण सिंह और सतीश चंद्र दूबे हैं। राजद से मीसा भारती व एक सीट शरद यादव की है  जो जेडीयू कोटे से राज्यसभा पहुंचे थे। लेकिन शरद यादव की सदस्यता खत्म होने की वजह से वो सीट पहले से ही खाली है। इस तरह से जेडीयू-बीजेपी  कोटे से 2-2 और राजद का एक सीट खाली हो रहा है। 

एक सीट के लिए 41 वोट की जरूरत
 बिहार विधानसभा में विधायकों की कुल संख्या 243 है। इस आधार पर एक सीट के लिए 41 वोट चाहिए। अगर पांच कैंडिडेट नामांकन दाखिल करते हैं तो वोटिंग की जरूरत नहीं पड़ेगी। सभी का निर्विरोध निर्वाचन हो जायेगा। अगर 5 से अधिक कैंडिडेट ने नामांकन दाखिल किया तभी मतदान की जरूरत पड़ेगी। वैसे बिहार विधानसभा में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है। बीजेपी के पास 77 विधायक हैं। वहीं राजद के खाते में 76 विधायक हैं। जेडीयू तीसरे नबंर पर है। नीतीश कुमार की पार्टी के पास सिर्फ 45 विधायक और एक निर्दलीय का समर्थन है। इस हिसाब से जेडीयू को एक राजद को 2 और भाजपा को जीतनराम मांझी के 4 विधायकों की बदौलत दूसरी सीट भी मिलनी तय है।

24 मई से नामांकन
राज्यसभा चुनाव का नोटिफिकेशन 24 मई को जारी होगा.उसी दिन से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी। 31 मई को नामांकन की आखिरी तारीख होगी.नॉमिनेशन की स्क्रूटनी 1 जून को होगी। नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 3 जून है. 10 जून को सुबह 9 बजे से 4 बजे तक वोट डाले जाएंगे. 10 जून को ही वोटों की गिनती शाम 5 बजे होगी.












 

 


Top