बालों के रोग और होमियोपैथी चिकित्सा

 संसार के प्राय: सभी थलचर प्राणियों के शरीर पर केस पाए जाते हैं। शरीर में बालों की उपस्थिति कामुक प्रयोजन रक्षात्मक है नासा छिद्र में रहने वाले बाल नाक के भीतर धूलकण
कीटाणु आदि को नहीं घुसने देते इसी प्रकार पलकों के बाल आंखों की वक्षस्थल के बाद छाती की जननेंद्रिय के बाल गुप्तांग की चेहरे के बाल दाढ़ी मूछ मुख मंडल की त्वचा के बाद संपूर्ण शरीर की तथा सिर की बाल खोपड़ी की रक्षा करते हैं। शरीर को सर्दी गर्मी तथा अन्य अघातों से से बचाने में बाल बहुत सहायक सिद्ध होते हैं।

बाल के रोगों की  चिकित्सा

(1) बालों के झड़ने असमय  की सफेदी रोकने के लिए- विसबिडान 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।(2) कमजोरी की वजह से बाल झड़ते हो तो- फास्फोरिक एसिड 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।(3) महिलाओं को प्रसव  के बाद बाल झड़ने की स्थिति में -नेट्रम मयूर 200, सीपीया 200 एक बूंद एक बार रोज लेना चाहिए।(4) रुसी के कारण बाल झड़ने पर-थूजा 200 साथ में काली म्यूर 6एक्स  इस्तेमाल करना चाहिए तथा तथा सिर में काफी खुली एवं खुश्की रहे तो मेजेरियम 6 इस्तेमाल करना चाहिए।(5) सिफलिस दोष के कारण यदि गंजापन हो तो अस्टिलागो  200 रोज एक बार तथा सिफलिनम 1M सप्ताह में एक बार लेना चाहिए।(6) दाड़ी का बाल झड़ना -कैली कार्ब 30,नेट्रम म्यूर 200,सीपीया 30 , एलूमीना 30 कारगर दवा है‌ (7)बाल थके-थके उड़ना- फास्फोरस 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।(8) बाल सफेद -लाइकोपोडियम30, नेट्रम म्यूर200, साइलिसिया 30 थारायाडीन 30 बहुत कारगर दवा है।(9)बाल बढ़ाने के लिए- विसबिडान 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।(10)बाल में रुसी-सोरीनम 200 एक बूंद एक बार रोज लेना चाहिए।(11) बाल में ढील- लीख -बोरेक्स 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए, कार्बोलिक एसिड 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए बहुत कारगर दवा है।(12) बाल दो मुंह का- थूजा 200 एक बूंद एक बार रोज लेना चाहिए।(13)बाल उगना स्त्री के ढोढ़ी पर इग्नेशिया 30,चायना 30 बहुत कारगर है।
(14)बाल होठ पर उगना -नेट्रम सल्फ 200,नेट्रम म्यूर200, चेनोपोडियम30, कोट्रि कोट्रिपीन 30 बहुत कारगर दवा है।(15) बाल गाल पर उगना -इग्नेशिया 30,नेट्रम सल्फ 200,नेट्रम म्यूर200 बहुत कारगर दवा है।
(16) बाल में जटा होना-बोरेक्स 30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।(17) बाल घुंघराले - मेजेरियम 200 एक बूंद एक बार रोज लेना चाहिए।(18) बाल कम उम्र में पकना- थारायडीन‌‌30 एक बूंद तीन बार रोज लेना चाहिए।
(19) बाल नहीं बढ़ना - जिंक विलोवा  कोई भी दवा चिकित्सक के सलाह से ही इस्तेमाल करें।
डॉ लक्ष्मी नारायण सिंह
होमियोपैथी अस्पताल
फतुहा, पटना(बिहार)
9204090774

Top