भारत 50 हजार मीट्रिक टन गेहूं पाकिस्तान के रास्ते भेजेगा अफगानिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को एलान किया कि भारत ने मानवीय मदद के तौर पर अफगानिस्तान को जो 50 हजार मीट्रिक टन गेहूं की पेशकश की है, जैसे ही भारत के साथ उसे भेजने का तरीका तय हो जाता है, हम पाकिस्तान के रास्ते से ले जाने की अनुमति देंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पाकिस्तान उस अफगान मरीज की वापसी में भी मदद करेगा जो इलाज के लिए भारत गया था और वहीं फंस गया था।


इमरान खान ने इस्लामाबाद में नव स्थापित अफगानिस्तान अंतर-मंत्रालयी समन्वय प्रकोष्ठ (एआईसीसी) की पहली शीर्ष समिति की बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान उन्होंने दुनियाभर के देशों से मानवीय संकट से बचाने के लिए अफगानिस्तान का समर्थन करने की अपील की। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को इस सामूहिक जिम्मेदारी पर ध्यान देने को भी कहा।

बैठक के दौरान इमरान खान ने भारत के 50,000 मीट्रिक टन गेहूं को पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान भेजे जाने अनुमति देने की घोषणा की। भारत ने अफगानिस्तान को मानवीय सहायता के रूप में यह गेहूं प्रदान करने की पेशकश की है। वर्तमान में पाकिस्तान केवल अफगानिस्तान को भारत को माल निर्यात करने की अनुमति देता है, लेकिन सीमा पार से किसी अन्य दोतरफा व्यापार की अनुमति नहीं देता है।

पिछले महीने ही भारत ने मानवीय सहायता के रूप में अफगानिस्तान के लिए 50,000 मीट्रिक टन गेहूं की घोषणा की थी और पाकिस्तान से वाघा सीमा के माध्यम से खाद्यान्न भेजने का अनुरोध किया था।
 

Top