ब्रिटिश पीएम की रेस मैं  एक और कदम आगे बढ़े भारतीय मूल के  ऋषि सुनक, दो महिलाओं से है मुकाबला  ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की रेस में अब तीन उम्मीदवार

ब्रिटिश पीएम की रेस मैं  एक और कदम आगे बढ़े भारतीय मूल के  ऋषि सुनक, दो महिलाओं से है मुकाबला

  ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की रेस में अब तीन उम्मीदवार बच गए हैं. इनमें से सबसे आगे ऋषि सुनक हैं. वह भारतीय मूल के हैं. उनका मुकाबला जिन दो नेताओं के साथ हो रहा है, वे दोनों महिलाएं हैं. ये हैं पेनी मोर्डौंट और लिज ट्रस. आज हुए मुकाबले में नाइजीरियाई मूल की केमी बैडेनोच रेस से बाहर हो गईं हैं. पिछले दो दिनों में जिस तरीके से उनकी लोकप्रियता बढ़ी थी, उसने सबको हैरत में डाल दिया था.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद की रेस में अब तीन उम्मीदवार ही रह गए हैं. इनमें से सबसे आगे भारतीय मूल के ऋषि सुनक हैं. सोमवार को उन्हें तीसरे दौर में 115 वोट मिले. उन्हें संसद के टोरी सदस्यों द्वारा मतदान के नवीनतम दौर में 14 और वोट मिले. कारोबार मंत्री पेनी मोर्डौंट 82 मतों के साथ दूसरे स्थान पर हैं, इसके बाद विदेश मंत्री लिज ट्रस को 71 मत मिले. पूर्व समानता मंत्री केमी बैडेनोच को 58 मत मिले थे. लेकिन आज वह रेस से बाहर हो गईं हैं.

एक दिन पहले टोरी (कंजरवेटिव पार्टी) में और हाउस ऑफ कॉमन्स की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष टॉम तुगेंदहट ने पिछली बार मिले 32 से एक कम 31 वोट हासिल किए और प्रतिस्पर्धा से बाहर हो गए. जाहिर है इस रेस में सबसे आगे ऋषि हैं. 
लिज ट्रस ने अपने कैंपेन में कहा कि वह रक्षा बजट बढ़ाने पर जोर देंगी. उनके अनुसार 2030 तक तीन फीसदी बजट बढ़ाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि आज से एक दशक पहले सुरक्षा को लेकर जितनी चिंताएं थीं, आज उसके मुकाबले खतरा कहीं ज्यादा है. उन्होंने कहा कि वह देश को अधिक सुरक्षित रख पाएंगी.
आपको बता दें कि गुरुवार तक केवल दो उम्मीदवार अंतिम सूची में जगह बनाएंगे.
सुनक को पिछले दौर में 101 वोट मिले थे. मतदान के नवीनतम दौर में उन्हें 14 और वोट मिले, जबकि मोर्डौंट ने पिछले हफ्ते दूसरे वोटिंग राउंड में हासिल 83 में से एक वोट कम हासिल किया. ट्रस ने अपने आंकड़े में सुधार किया है और 64 वोट से आगे बढ़ कर 71 पर पहुंच गईं. बैडेनोच अंतिम दौर में 49 के आंकड़े से आगे बढ़े और 58 वोट पर आ गए थे. जादुई आंकड़ा 120 है. उम्मीदवार को अपने कंजरवेटिव पार्टी के कम से कम 120 सहयोगियों का समर्थन प्राप्त करने के साथ टोरी सदस्यता वोट के लिए प्रतिस्पर्धा करते हुए दो उम्मीदवारों की अंतिम सूची में स्थान बनाना होगा.
ऋषि सुनक की मुख्य नीतियां - जब मुद्रास्फीति कम हो तो टैक्स में कटौती करें. इससे सार्वजनिक वित्त व्यवस्था पटरी पर लौट आती है. 25 प्रतिशत निगम कर की योजनाबद्ध वृद्धि के साथ आगे बढ़ें. छोटी नावों के जरिए क्रॉसिंग करने वालों से बचने के लिए रवांडा आव्रजन नीति जारी रहेगी. रक्षा बजट पर वृद्धि नहीं होगी. महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए घोषणापत्र प्रकाशित करें. भविष्य में बीबीसी लाइसेंस शुल्क को समाप्त करने का द्वार खोलें.



Top