भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की कुर्सी के और करीब पहुंचे
भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की कुर्सी के और करीब पहुंच गए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री और कंजर्वेटिव पार्टी संसदीय दल नेता पद के दूसरे दौर के मतदान में 101 मतों के साथ जीत हासिल की। भारतीय मूल की अटॉर्नी जनरल सुएला ब्रैवरमैन सबसे कम 27 मत पाने के कारण होड़ से बाहर हो गईं।
दूसरे दौर में पूर्व वित्त मंत्री सुनक को 101 वोट मिले, जबकि पेनी मोर्डंट 83 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। विदेश मंत्री लिज ट्रस ने 64 वोटों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया। पूर्व मंत्री केमी बडेनोच को 49, बैकबेंचर टॉम तुगेंदत को 32 वोट मिले हैं। अगला मतदान 21 जुलाई को होगा। अब इन 5 उम्मीदवारों में से 3 और बाहर होंगे, इसके बाद मुख्य मुकाबला 2 उम्मीदवारों के बीच होगा. इसके लिए अगले सप्ताह वोट होने हैं।
ब्रिटेन के पूर्व वित्तमंत्री और कंजर्वेटिव पार्टी के नेतृत्व के चुनाव में दूसरे दौर के मतदान में जीत हासिल करने वाले ऋषि सुनक ने प्रतिद्वंद्वियों पर उनकी कर योजनाओं को लेकर पलटवार किया है। उन्होंने आलोचकों पर निशाना साधते हुए कहा, मैं करों की कटौती के लिए चुनाव जीतना चाहता हूं।

सुनक ने कहा, मुझे लगता है हमारी सर्वप्रथम आर्थिक प्राथमिकता मुद्रास्फीति से निपटना है और इसे बदतर नही बनाया जा सकता। महंगाई दुश्मन है और हर किसी को गरीब बनाती है। सुनक ने करों में कटौती के मुद्दे को सभी दावेदारों के बीच एक निर्णायक मुद्दे के रूप में बताया। 

करों में कटौती के लिए चुनाव जीतता हूं
अपने आलोचकों को जवाब देते हुए ऋषि सुनक ने कहा, मैं इस संसद में टैक्स कटौती कर सकता हूं लेकिन मैं इसे एक जिम्मेदारी के रूप मे लेने जा रहा हूं। मैं चुनाव जीतने के लिए करों में कटौती नहीं करता, बल्कि मैं करों में कटौती के लिए चुनाव जीतता हूं। उन्होंने कहा, मैं करों में कटौती करना चाहता हूं और इसे करके ही रहूंगा, लेकिन हम इसे सही तरीके से करेंगे।


Top