पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला भ्रष्टाचार को लेकर  बर्खास्त और गिरफ्तार

सीएम भगवंत मान ने मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला को पद से बर्खास्त कर दिया। इसके कुछ देर बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं कोर्ट ने सिंगला को तीन दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. अपने ऊपर लगे आरोप को विजय सिंगला ने साजिश बताया है. उन्होंने कहा, पार्टी को बदनाम करने की कोशिश हो रही है.इससे पहले मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार का रुख भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करने का है।
मुख्यमंत्री ने खुद सिंगला को मंत्रिमंडल से हटाए जाने की घोषणा की. मान ने कहा कि उन्होंने यह फैसला, सिंगला द्वारा अपने विभाग की निविदाओं और खरीद में कथित रूप से एक प्रतिशत कमीशन की मांग किए जाने की जानकारी मिलने के बाद किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है।इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गई।सिंगला मानसा विधानसभा सीट से विधायक हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव में पंजाबी गायक और कांग्रेस प्रत्याशी शुभदीप सिंह सिद्धू को हराया था। सिंगला पेशे से दंत चिकित्सक हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मान को 10 दिन पहले एक अधिकारी के जरिए सिंगला  के कथित गलत कामों के बारे में पता चला था।
मुख्यमंत्री ने अधिकारी को आश्वस्त किया था कि वह उनके साथ हैं और उन्हें किसी से डरने की जरूरत नहीं है.।अधिकारी की मदद से एक अभियान चलाया गया जिसके बाद यह सामने आया कि सिंगला और उनके सहयोगी एक फीसदी कमीशन मांग रहे हैं। इस संबंध में एक ऑडियो रिकॉर्ड भी है।

पंजाब के सीएम भगवंत मान ने मंगलवार को एक वीडियो संदेश में कहा, मेरे संज्ञान में एक मामला लाया गया था जिसमें मेरी सरकार का एक मंत्री अपने विभाग की प्रत्येक निविदा या खरीद में एक प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहा था। मैंने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है। इसे सिर्फ मैं ही जानता था। न मीडिया को पता था न विपक्ष को।


Top