बसपा प्रमुख मायावती इस बार  चुनाव नहीं लड़ेंगी।
 बीएसपी नेता और राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने आज इसकी घोषणा करते हुए कहा कि ना तो पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और ना ही वो खुद यूपी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। ऐसे में मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा, इस पर सवाल उठ रहे हैं। पार्टी ने प्रदेश की सभी 403 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने का भी ऐलान किया है। साथ ही उनका दावा है कि इस बार ना तो बीजेपी चुनाव जीतेगी और ना ही सपा।

बीएसपी नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने दावा किया कि राज्य में होने वाले विधानसभा में ना ही एसपी को और ना ही बीजेपी को जीत मिलने जा रही है, बल्कि बीएसपी सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के उस दावे पर भी तंज कसा जिसमें एसपी ने कहा था कि वह राज्य में 400 सीटें जीतेगी। बीएसपी ने कहा कि जब उनके पास 400 उम्मीदवार ही नहीं होंगे, तो वो 400 सीटें कैसे जीतेंगी?
इस बार बहुजन समाज पार्टी के चुनाव संबंधी कार्यक्रम का पूरा जिम्मा पार्टी चीफ मायावती और सतीश चंद्र मिश्रा के ही कंधों पर है। लेकिन बीएसपी चीफ मायावती ने अभी तक राज्य में होने वाले चुनाव के लिए रैलियां भी शुरु नहीं की हैं, जबकि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी समेत तमाम दल कापी पहले से चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इस बारे में मायावती का कहना था कि वह जमीनी स्तर पर पार्टी को मजबूत कर रही हैं। वैसे बीएसपी सोशल मीडिया के जरिए प्रचार कर रही है और पार्टी के डिजीटल मीडिया में प्रचार की जिम्मेदारी सतीश चंद्र मिश्रा के बेटे को सौंपी गई है। 


Top