झारखंड में बनेगा पूर्वी भारत का पहला  जनजातीय विश्वविद्यालय

 यह जनजातीय विश्वविद्यालय सभी वर्गों, जातियों और पंथ के लिए खुला रहेगा,  10 संकाय में होगी पढाई 

रांची,22 दिसम्बर। . झारखंड में जनजातीय विश्वविद्यालय  खुलने का मार्ग प्रशस्त हो गया है।यह पूर्वी भारत का पहला और देश का दूसरा जनजातीय विश्वविद्यालय होगा। बुधवार को शीतकालीन सत्र (के अंतिम दिन विधानसभा में पंडित रघुनाथ मुर्मू जनजातीय विश्वविद्यालय विधेयक 2021 पारित हुआ। 
 विश्वविद्यालय का मुख्यालय जमशेदपुर होगा और क्षेत्राधिकार संपूर्ण झारखंड में रहेगा। यह जनजातीय विश्वविद्यालय सभी वर्गों, जातियों और पंथ के लिए खुला रहेगा। इस विश्वविद्यालय में 10 संकाय में छात्र शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे

पंडित रघुनाथ मुर्मू जनजातीय विश्वविद्यालय पूर्वी भारत का पहला आदिवासी विश्वविद्यालय होगा। इसे जमशेदपुर के गालूडीह और घाटशिला के बीच निर्माण की योजना है। इसके लिए 20 एकड़ जमीन भी चिह्नित की जा चुकी है।

Top