ग्रैपलिंग के निर्णायकों, प्रशिक्षकों का तीन दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण संपन्न I

ग्रैपलिंग कमिटि ऑफ इंडिया के तत्वावधान में ग्रैपलिंग कमिटी ऑफ  बिहार के द्वारा बिहार के निर्णायकों व प्रशिक्षकों का तीन दिवसीय सेमिनार/प्रशिक्षण का आज समापन हुआ I इस सेमिनार/प्रशिक्षण को ग्रैपलिंग कमिटि ऑफ इंडिया के तकनीकी डिप्टी डायरेक्टर एवं अंतरराष्ट्रीय रेफरी श्री जयवीर डांगी व राष्ट्रीय स्तर के तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा संचालित किया गया। 
     इस ऑनलाइन सेमिनार/प्रशिक्षण शिविर के आखिरी दिन के सत्र के पश्चात, ग्रैपलिंग कमिटि ऑफ इंडिया के तकनीकी निदेशक एवं अंतरराष्ट्रीय रेफरी श्री जगमेंदर पांचाल जी ने प्रशिक्षुओं का परीक्षण सवाल जवाब के माध्यम से मौखिक रूप से किया I 

इससे पूर्व प्रशिक्षक जयवीर डांगी द्वारा आखिरी कुछ बिन्दु पर प्रकाश डाला गया I जिसमें कोच के अधिकार, डॉक्टर के अधिकार, टीम मैनेजर के अधिकार, स्पंज की भूमिका, लाइसेन्स, निर्णायक चिन्ह जैसे तकनीक की जानकारी खिलाड़ियों की मदद से प्रदर्शित करके एवं सैद्धांतिक रूप से प्रशिक्षकों को दी गई I इसके साथ हीं प्रशिक्षणार्थियों के सभी सवालों का हल निकालते हुए जवाब भी दिया गया।  ग्रैपलिंग कमिटी ऑफ बिहार के महासचिव गौरीशंकर जी ने बताया कि ऑनलाइन राज्यस्तरीय सेमिनार/प्रशिक्षण कार्यक्रम में विभिन्न जिलों के 27 निर्णायक व प्रशिक्षक भाग ले रहे हैं। जिसमें कुमार आदित्य, अल्का सिन्हा, मनीष कुमार, वीरेश कुमार (सभी मुजफ्फरपुर), नीरज कश्यप, विकास कुमार (दोनों पूर्वी चंपारण), उमेश कुमार, राहुल शर्मा, शिवम कुमार राय (समस्तीपुर), अमर कुमार आहूजा (भागलपुर), मनोज कुमार, अजय कुमार (खगड़िया), अशोक कुमार, जयनंदन कुमार, रजनीश कुमार (पटना), संजीव कुमार, मिथुन कुमार (अररिया), नौशाद अंसारी (सहरसा), रणधीर कुमार प्रभाकर, विनोद कुमार धोनी (वैशाली), अंजलि कुमारी (भोजपुर), संजय कुमार (पश्चिम चंपारण) और दीपक प्रकाश रंजन (मधेपुरा) शामिल रहे और राज्य प्रशिक्षक बने I कार्यक्रम का संचालन प्रवीण सिंह ग्रैपलिंग कमिटि ऑफ झारखंड के सचिव की देखरेख में किया गया I

Download Pdf
Top