TESTING
पटना के ख्यातिप्राप्त हड्डी रोग विशेषज्ञ व पद्मश्री डॉ. रवीन्द्र नारायण सिंह (डा.आर एन सिंह)  विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय अध्यक्ष चुने गए। वे अभी संगठन के उपाध्यक्ष थे। 
 हड्डी रोग सर्जन एवं पद्मश्री डॉ. रवींद्र नारायण सिंह (आरएन सिंह)को शनिवार को विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) का नया अध्यक्ष चुना गया। उन्होंने विष्णु सदाशिव कोकजे की जगह ली है। डा. सिंह अब तक संगठन के उपाध्यक्ष थे। उन्हें  2010 में पद्मश्री मिला है।
विहिप के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, हमारे न्यासी बोर्ड ने आज सर्वसम्मति से रवींद्र नारायण सिंह को  अध्यक्ष चुना।  विष्णु सदाशिव कोकजे  अप्रैल 2018 से संगठन के अध्यक्ष थे। जैन ने कहा, कोकजे की उम्र अब 82 साल है। वह विहिप अध्यक्ष के रूप में अपने दायित्वों से मुक्त होना चाहते थे। चुनाव उनकी इच्छाओं और हमारे संविधान के अनुरूप हुआ है।
 संगठन के नवनिर्वाचित अध्यक्ष संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थे। उन्होंने जैन तथा विहिप के अन्य नेताओं के साथ मंच साझा किया। जैन ने कहा कि महासचिव पद के लिए भी चुनाव हुआ और संगठन के वर्तमान महासचिव मिलिंद परांडे को सर्वसम्मति से फिर से इस पद के लिए चुना गया। अध्यक्ष और महासचिव पद के लिए चुनाव संगठन की संचालन परिषद और बोर्ड न्यासियों की फरीदाबाद में दो दिवसीय बैठक के बीच शनिवार सुबह हुआ।
 विहिप के नए अध्यक्ष  सहरसा के रहने वाले है। उनके पिता जिला एवं सत्र न्यायाधीश स्व. राधा बल्लभ सिंह थे। डॉ. आरएन सिंह की स्कूली शिक्षा कटिहार में हुई है । आगे की शिक्षा पटना में पूरी करने के बाद उन्होंने पीएमसीएच से एमबीबीएस किया। इसके बाद लगभग एक दशक तक लंदन में एफआरसीएस व अन्य डिग्री हासिल की। वे लंदन में रहने के दौरान ही विश्व हिंदू परिषद से जुड़े।
80 के दशक में पटना आकर अपनी क्लीनिक चलाने लगे। इस दौरान उन्हें बेहतर सेवा के लिए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने पद्मश्री सम्मान भी दिया। वह विगत दिनों से विहिप के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में सक्रिय थे।

Download Pdf
Top