स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी सख्त चेतावनी, अगले 100 से 125 दिन बेहद महत्वपूर्ण,  बरतें सावधानी

नई दिल्ली,16 जुलाई।   स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि दुनिया कोरोना की तीसरी लहर की तरफ बढ़ रही है। अगले 100 से 125 दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं। इस दौरान लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।     नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने एक बार फिर वैक्सीन की अहमियत पर जोर देते हुए बताया कि वैक्सीन का सिंगल डोज भी कोरोना के कारण होनेवाली मौत की दर को 82 फीसदी तक कम कर देता है। वहीं दोनों डोज लेने पर कोरोना मौत की संभावना 95 फीसदी तक कम हो जाती है। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने भी आज महाराष्ट्र, केरल सहित 6 राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जाहिर की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केरल और महाराष्ट्र में कोरोना की बढ़ती संख्या चिंता का विषय है।पीएम मोदी ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीका रणनीति और ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन पर जोर दियाहै।

 कोविड 19 समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा, हम सभी एक ऐसे बिंदु पर हैं जहां तीसरी लहर की आशंका लगातार व्यक्त की जा रही है। विशेषज्ञों द्वारा गिरावट के रुझान के कारण सकारात्मक संकेत देने के बावजूद कुछ राज्यों में मामलों की बढ़ती संख्या अभी भी चिंताजनक है। प्रधानमंत्री ने बताया कि पिछले सप्ताह के दौरान, बैठक में उपस्थित राज्यों से 80 प्रतिशत मामलों के साथ-साथ 84 प्रतिशत दुर्भाग्यपूर्ण मौतें हुईं।
प्रधानमंत्री ने यूरोप, अमेरिका, बांग्लादेश, इंडोनेशिया, थाईलैंड और कई अन्य देशों में मामलों की संख्या में वृद्धि पर भी चिंता व्यक्त की और कहा कि यह हमें और दुनिया को सतर्क करना चाहिए।
प्रधानमंत्री ने बैठक के दौरान दोहराया कि कोरोना खत्म नहीं हुआ है और लॉकडाउन के बाद आने वाले कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन की तस्वीरों पर गहरी चिंता व्यक्त की।उन्होंने प्रोटोकॉल का पालन करने और भीड़ से बचने की आवश्यकता पर जोर दिया क्योंकि बैठक में कई राज्यों में घनी आबादी वाले महानगर हैं।                                                

पीएम मोदी के साथ  बैठक में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से शामिल हुए।


Download Pdf
Top